Backlink ke kya fayde hain – Best backlink 2022

1
89
backlink

Backlink ke kya fayde hain

दोस्तों अगर आप एक ब्लॉगर हैं और आप भी ब्लॉगिंग करते हैं तो आपने बैकलिंक का नाम जरूर सुना होगा। किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को रैंक करने के लिए बैकलिंक का होना बहुत जरूरी है। अगर आपने कोई वेबसाइट बनाई है और उसमें आपने बहुत सारे पोस्ट भी लिखा है लेकिन आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक नहीं आ रहा है तो इसका कारण है कि आपने कोई भी बैक लिंक नहीं बनाया है या जो बैकलिंक बनाया है वह किसी काम का नहीं है।

कुछ ब्लॉगर नए होते हैं और उन्हें बैकलिंक के बारे में कोई भी जानकारी नहीं होती है तो उनके लिए आज हम बैक लिंक की पूरी जानकारी इस पोस्ट में देने वाले हैं। इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि बैकलिंक्स क्या होता है और बैक लिंक कैसे बनाते हैं। लेकिन इसके लिए आपको इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक ध्यान से पढ़ना होगा तभी आप समझ पाएंगे कि बैकलिंक्स क्या होता है और इसे कैसे बनाया जाता है।

इस आर्टिकल में हम आपको बैक लिंक के बारे में सभी छोटी से छोटी बातों को बताएंगे। जब मैंने अपना ब्लॉग बनाया था और आर्टिकल लिखा था तो मेरे ब्लॉग पर भी कोई ट्रैफिक नहीं आता था या नाम मात्र का ट्रैफिक आता था। तब मैंने बैकलिंक्स का इस्तेमाल किया और आज मेरी वेबसाइट पर मिलियन में ट्रैफिक आते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं और आपको बताते हैं कि बैक लिंक क्या होता है और इसे कैसे बनाया जाता है।

बैकलिंक क्या है?

Backlink ke kya fayde hain

बैंक लिंक एक ऐसा माध्यम है जिसकी मदद से आप किसी दूसरे वेबसाइट से अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए कई तरीके होते हैं जिनमें से एक है कि आप उस वेबसाइट के ओनर से संपर्क करके अपने वेबसाइट के लिए बैकलिंक ले सकते हैं। यानी कि किसी अच्छे रैंकिंग वाले वेबसाइट में अपनी आर्टिकल का लिंक दे सकते हैं। इसके लिए आप उस वेबसाइट के उनसे संपर्क करके रिक्वेस्ट कर सकते हैं या उसके बदले कुछ अमाउंट देकर बैकलिंक ले सकते हैं।

बैक लिंक कितने प्रकार के होते हैं

बैंक लिंक दो प्रकार के होते हैं

  • Nofollow Backlink
  • Dofollow Backlink

अगर आप अपने वेबसाइट पर ट्रैफिक लाना चाहते हैं तो आपको इन दोनों बैक लिंक की जरूरत पड़ेगी। आपको अपने आर्टिकल का SEO करते समय भी इन दोनों बैकलिंक्स की जरूरत पड़ेगी। इनमें से एक बैंक लिंक की वैल्यू कम होती है और दूसरे बैंक लिंक की वैल्यू बहुत ज्यादा होती है। आइए अब हम जानते हैं कि Nofollow Backlink क्या होता है।

Nofollow Backlink

इस बैक लिंक की वैल्यू उतनी ज्यादा नहीं होती है क्योंकि यह किसी भी प्रकार के लिंक जूस को पास नहीं करता है। लेकिन अगर आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट की परफॉर्मेंस अच्छी करनी है तो इस बैक लिंक से आपको काफी मदद मिलेगी। इस बैकलिंक्स का दूसरा फायदा है कि अगर आपकी वेबसाइट किसी स्पैम वेबसाइट से जुड़ी हुई है तो आपकी वेबसाइट पर कोई भी गलत प्रभाव नहीं पड़ेगा।

अगर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के किसी आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे – फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, और याहू जैसे किसी अन्य प्लेटफार्म पर शेयर करते हैं तो यह nofollow backlink के अंतर्गत आता है। इस बैक लिंक से आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक तो आएगा लेकिन इससे आपके वेबसाइट की रैंकिंग पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि गूगल इस बैक लिंक की वैल्यू नहीं देता है इस बैक लिंग का स्ट्रक्चर नीचे दिया गया है।

Nofollow Backlink का इस्तेमाल कहां होता है

backlink

अब आपको बताते हैं कि आप इस बैक लिंक का इस्तेमाल कहां कहां कर सकते हैं। आपको इस आर्टिकल में पहले ही बताया गया है कि इस बैक लिंक से सिर्फ ट्रैफिक ही प्राप्त कर सकते हैं इसे रैंकिंग पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। तो चलिए जानते हैं कि इस बैक लिंक का इस्तेमाल आप कहां कर सकते हैं।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म – इस बैक लिंक का इस्तेमाल आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे – फेसबुक, इंस्टाग्राम, टि्वटर इत्यादि पर कर सकते हैं। जहां पर आप अपने आर्टिकल का लिंक शेयर करते हैं तो आपको ट्रैफिक मिलेगा लेकिन इससे वेबसाइट के रैंकिंग पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और ना ही आपके वेबसाइट को कोई नुकसान होगा।

कमेंट के द्वारा – कमेंट के द्वारा बैंक लिंक बनाने के लिए आपको किसी अच्छे डोमेन अथॉरिटी वाले वेबसाइट के कमेंट सेक्शन में जाकर कोई कमेंट करना होगा और वहां पर आप अपने आर्टिकल का लिंक दे कर ट्रैफिक आ सकते हैं। इससे भी आपके रैंकिंग पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

Dofollow backlink क्या होता है

इस बैक लिंग की मदद से आप अपने वेबसाइट के रैंकिंग को बहुत अच्छा कर सकते हो। इस बैकलिंक का इस्तेमाल करने के लिए आपको किसी ऐसे वेबसाइट के ऑनर से संपर्क करना होगा जिसके वेबसाइट का डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी बहुत अच्छा हो। अगर वह इसकी स्वीकृति दे देते हैं तो आपको अपने वेबसाइट का आर्टिकल का लिंक उन्हें देना होगा जिसे वह अपने वेबसाइट पर सबमिट करेंगे। जिससे आपको ट्रैफिक प्राप्त होगा और आपकी वेबसाइट की रैंकिंग भी अच्छी हो जाएगी। यह Dofollow backlink के अंतर्गत आता है।

यह भी पढ़ें – फ्रीलांसर के क्या फायदे हैं

Dofollow Backlink का इस्तेमाल

अब आपको मालूम हो चुका होगा कि इस बैंक लिंक के बिना आपका वेबसाइट रैंक नहीं कर पाएगा अब आपको बताते हैं कि इस बैंक लिंक का इस्तेमाल आप कहां पर कर सकते हैं।

अच्छी डोमेन अथॉरिटी वाली वेबसाइट पर – इसके लिए आपको सबसे पहले अपने आर्टिकल से संबंधित अच्छी डोमेन अथॉरिटी वाले वेबसाइट की तलाश करनी होगी और उस वेबसाइट पर बैक लिंक बनाना होगा इससे आपकी वेबसाइट बहुत तेजी से रैंक करेगी

Guest Post लिखकर – इसके लिए सबसे पहले आपको उस वेबसाइट को चुनना होगा जो गेस्ट पोस्ट को एक्सेप्ट करती है। ऐसा करने से भी आपकी वेबसाइट पर बहुत प्रभाव पड़ेगा और आपकी वेबसाइट तेजी से रैंक करेगी।

बैकलिंक बनाने का तरीका

अब आपको बैकलिंक बनाने के कुछ तरीकों के बारे में बताते हैं जिससे आप आसानी से बैकलिंक बना सकते हैं।

इसका सबसे पहला तरीका है कि आप अपने आर्टिकल से संबंधित किसी ऐसे वेबसाइट को चुने जो गेस्ट पोस्ट को एक्सेप्ट करती है आप उस वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट लिखते समय अपनी वेबसाइट का लिंक दे सकते हैं जिससे एक मजबूत बैकलिंक बनेगा।


बैक लिंक बनाने का दूसरा तरीका है कि आप किसी अच्छे डोमेन अथॉरिटी वाले वेबसाइट पर जाकर कमेंट सेक्शन में कोई कमेंट कर सकते हैं और वहां अपनी वेबसाइट का लिंक दे सकते हैं इससे आपकी रैंकिंग तो नहीं बढ़ेगी लेकिन इससे आपको ट्रैफिक बहुत ज्यादा मिलेगा।
बैकलिंक बनाने का तीसरा तरीका है कि आप किसी अच्छे डोमेन अथॉरिटी वाले वेबसाइट के ऑनर को पेमेंट करके भी बैक लिंक ले सकते हैं। इंटरनेट पर बहुत सारी वेबसाइट उपलब्ध है जो पेमेंट लेकर बैकलिंक उपलब्ध करवाती है।
बैकलिंक बनाने का एक और तरीका है कि आप अपनी आर्टिकल से संबंधित कोई फेसबुक पेज बना लें और वहां पर अपने आर्टिकल के लिंक को शेयर करें इससे भी आपको काफी फायदा मिलेगा।

निष्कर्ष

आज इस आर्टिकल की मदद से हमने आपको बैक लिंक के बारे में पूरी जानकारी दी है। आप इस आर्टिकल को पढ़कर जान सकते हैं कि बैक लिंक कैसे बनाया जाता है और इसके क्या क्या फायदे होते हैं। अगर आपको इस आर्टिकल से संबंधित कोई प्रश्न हो तो आप हमें कमेंट में लिख सकते हैं या बैंक लिंक बनाने में कोई परेशानी होती है तो हमें कमेंट करें हम आपकी मदद करेंगे।

FAQ

1 –  बैकलिंक से क्या फायदा होता है?

ans. – बैकलिंक से हमें यह फायदा होता है कि आपके वेबसाइट पर दूसरी वेबसाइट से ट्रैफिक डायवर्ट होता है इसके साथ ही आपकी वेबसाइट का डोमिन अथॉरिटी भी बढ़ता है।

2 –  बैकलिंक्स खरीदना चाहिए या नहीं?

ans.कभी भी बैकलिंक्स खरीदना नहीं चाहिए क्योंकि इससे आपकी वेबसाइट का हेल्थ स्कोर खराब हो सकता है। गूगल भी खरीदे हुए बैकलिंक्स की वैल्यू नहीं देता है जिसके कारण आपके वेबसाइट का स्कोर और ज्यादा खराब हो जाता  है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here