Cheque Bounce होने के कारण – चेक बाउंस होने से बचने के उपाय

0
52
cheque bounce

Cheque Bounce होने के कारण

 दोस्तों आज हम एक और महत्वपूर्ण आर्टिकल लेकर आए हैं  जिससे आपको काफी मदद मिलेगी। आज की यह आर्टिकल चेक बाउंस होने के कारण की जानकारी देने के लिए है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि चेक बाउंस होने के क्या कारण है और इससे बचने के क्या-क्या उपाय हैं।

अगर आप बैंकिंग संबंधित कार्य करते हैं तो आपने कभी ना कभी चेक का इस्तेमाल जरूर किया होगा और आपने अक्सर सुना होगा कि कभी-कभी चेक बाउंस हो जाता है जिसके कारण लोगों को बहुत परेशानी होती है। अक्सर लोगों को ज्यादा जानकारी नहीं होती है कि चेक बाउंस क्यों होता है और चेक बाउंस होने पर हमें क्या करना चाहिए। अगर आप भी चेक बाउंस होने की जानकारी चाहते हैं तो इस आर्टिकल में अंत तक जरूर बने रहें।

अगर आप चेक बुक का इस्तेमाल करते हैं या कोई अन्य व्यक्ति आपको कोई चेक देता है और आप उसे बैंक में लेकर जाते हैं लेकिन आपको पता चलता है कि यह चेक बाउंस हो चुका है तो आप परेशान हो जाते हैं और समझ में नहीं आता है कि अब क्या करना चाहिए। चेक बाउंस होने के बहुत से कारण होते हैं। आइए हम कुछ महत्वपूर्ण कारणों के बारे में बताते हैं जिसके कारण अक्सर चेक बाउंस हो जाता है।

Cheque Bounce होने के कारण 

cheque bounce

हमने यहां पर कुछ महत्वपूर्ण कारणों के बारे में बताया है जिसके कारण अक्सर लोगों का चेक बाउंस हो जाता है।

  • चेक बाउंस होने का सबसे पहला और महत्वपूर्ण कारण है कि अगर आपको किसी व्यक्ति ने चेक दिया है और उसके खाते में पर्याप्त राशि उपलब्ध नहीं है तो यह चेक पूरी तरह से बाउंस हो जाएगा।
  • चेक बाउंस होने का एक और महत्वपूर्ण कारण होता है कि जिस व्यक्ति ने आपको चेक दिया है उस व्यक्ति का हस्ताक्षर अगर उस चेक पर किए गए हस्ताक्षर से नहीं मिलता है तो यह चेक बाउंस हो जाएगा।
  • अगर आपको कोई व्यक्ति चेक के रूप में पेमेंट देता है तो उसे एक सीमित समय के भीतर बैंक में जमा कराना होता है नहीं तो वह चेक एक्सपायर हो जाता है। अगर आपको किसी व्यक्ति ने कोई चेक दिया है और आप उसे 3 महीने के भीतर बैंक में नहीं जमा करते हैं तो वह चेक बाउंस हो जाएगा।
  • चेक जारी करते समय अगर चेक जारी करने वाले व्यक्ति ने गलत विवरण भरा है तब भी आपका चेक बाउंस हो जाएगा।
  • कई बार यह भी देखा जाता है कि अगर आपको किसी व्यक्ति ने चेक के रूप में पेमेंट दिया है और आप उसके खाते में बहुत सारा धन भी है लेकिन किसी कारण बैंक द्वारा उसका खाता फ्रीज कर दिया गया है तो आप को दिया गया चेक बाउंस हो जाएगा।

चेक बाउंस हो जाने पर क्या करना चाहिए?

जब भी आप कोई चेक बैंक में जमा करते हैं और वह चेक बाउंस हो जाता है तो बैंक कर्मचारी द्वारा चेक बाउंस हो जाने की एक नोटिस दी जाती  है। इस नोटिस में स्पष्ट बताया जाता है कि आपका चेक क्यों बाउंस हुआ है।

 अगर किसी कारण बस आपका चेक बाउंस हो जाता है तो सबसे पहले आपको 30 दिनों के भीतर किसी वकील से मिलकर उन्हें अपनी समस्या बतानी चाहिए। इसके बाद उस वकील द्वारा चेक जारी करने वाले व्यक्ति को एक लीगल नोटिस भेजा जाता है लिस्ट ऑफ नोटिस जारी होने के 15 दिनों के भीतर चेक जारी करने वाले व्यक्ति को हाजिर होना पड़ता है और चेक बाउंस होने की कारण के बारे में बताना होता है।

 अगर चेक जारी करने वाला व्यक्ति 15 दिनों के बाद भी कोई दूसरा चेक जारी नहीं करता है या आपका किसी अन्य माध्यम द्वारा पेमेंट नहीं देता है तो आप अपने वकील के साथ मिलकर चेक जारी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवा सकते हैं।

Read this also – Old age pension ki jankari

Cheque Bounce Punishment

चेक बाउंस होने की स्थिति में बैंक द्वारा कई प्रकार के नियम भी होते हैं जिसमें एक नियम है कि अगर चेक जारी करने वाला व्यक्ति चेक बाउंस होने के बाद आपका पेमेंट किसी अन्य माध्यम से नहीं देता है या दूसरा चेक नहीं जारी करता है तो 15 दिनों के बाद उन्हें 2 साल की सजा या जितनी रकम की चेक बाउंस हुई है उससे दोगुनी रकम देनी पड़ सकती है।

Cheque Bounce Rules

अगर आप चेक बुक का इस्तेमाल करते हैं या कोई व्यक्ति आपको चेक के रूप में पेमेंट देता है तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  •  अगर आपको कोई व्यक्ति चेक के रूप में पेमेंट देता है तो उस चेक को एक्सपायर होने से पहले ही बैंक में जमा कर देना चाहिए।
  • अगर आपको किसी व्यक्ति ने चेक दिया है और वह चेक बाउंस हो चुका है तो उसकी सूचना उस व्यक्ति को 30 दिनों के अंदर ही देनी चाहिए ताकि उस व्यक्ति को चेक बाउंस होने की जानकारी मिल सके।
  • अगर चेक बाउंस होने के बाद आपने एक जारी करने वाले व्यक्ति को सूचना दे दी है और उन्होंने 15 दिन के अंदर कोई जवाब नहीं दिया है तो आप इसकी सूचना नजदीकी थाने में ले सकते हैं और उनके ऊपर केस दर्ज करवा सकते हैं।

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने चेक बाउंस होने से संबंधित जानकारी दी है और उससे बचने और चेक बाउंस हो जाने पर क्या करना चाहिए यह पूरी जानकारी इस आर्टिकल में दी गई है। अगर आपको इस आर्टिकल से संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here